कार के ड्राइवर के साथ जबरदस्ती चुदी

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम आरती है और मैं रहने वाली कोलकाता की हूँ | मैं दिखने में बहुत हॉट हूँ और मेरी उम्र 20 साल है | दोस्तों मैं दिखने में कम्सीन जवान हूँ और मेरी जवानी के मज़े लुटने के लिए मेरे कॉलेज के लड़के मेरे पीछे पड़े रहते थे | दोस्तों मेरी हाईट और मेरी बॉडी एकदम मस्त है जिसकी वजह से मेरे बूब्स काफी बड़े और सेक्सी हैं | मैं जब चलती हूँ तो मेरी कमर नागिन की तरह बलखाती चलती है जिसको देखकर किसी का भी इमान डगमगा जाये |

दोस्तों मैं जो आज कहानी आप लोगो के सामने पेश करने जा रही हूँ ये मेरी और मेरे घर में रहने वाले कार ड्राइवर की है | जिसने मेरी जवानी के मज़े लिए थे और मुझे खुश किया था | मैं आज आप लोगो को अपनी इस कहानी में बताउंगी की कैसे मुझे उस घर में रहने वाले कार ड्राइवर ने खुश किया था और मैं कैसे उससे चुद गयी थी | मैं कहानी को शुरू करती हूँ और आप सभी लोगो से आशा करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आयेगी और इस कहानी को पढने में मज़ा तो बहुत आएगा |

दोस्तों मैं जिस घर में रहती हूँ वो घर काफी बड़ा है और मैं उस घर में अकेली ही रहती हूँ केवल वो ड्राइवर रहता है जोकि नीचे बेसमेंट में बने कमरे में रहता हैं | मैं अपने मम्मी और पापा के साथ नही रह पाती हूँ क्यूंकि वो दोनों लोग दुसरे शहर में रहते हैं और मैं यहाँ रुक कर अपनी पढाई करती हूँ | मेरे मम्मी और पापा मुझे बहुर प्यार करते हैं और वो लोग मुझसे मिलने अक्सर घर आते रहते हैं | दोस्तों मैं आप लोगो को बता देती हूँ की मैं जब 18 साल की थी तब से मुझे नशे की लत लगी थी इसलिए मैं अक्सर नशा करने के बाद अपने कमरे में सो जाया करती थी |

दोस्तों मैं अपने घर में रहने वाले ड्राइवर के बारे में बता देती हूँ | उसका नाम रामू है और वो इससे पहले मेरे पापा की कार का ड्राइवर था पर जब से मम्मी और पापा दूसरी जगह रहने लगे हैं तब से ये मुझे कॉलेज छोड़ने और लेने जाता है इसलिए ये अब मेरी कार का ड्राइवर है | वो दिखने में गोरा है और उसकी बॉडी भी काफी मस्त है | दोस्तों वो काफी स्मार्ट था सायद उस रात मैं इसलिए उसके साथ सेक्स कर बैठी थी |
दोस्तों जब मैं अपने कॉलेज जाती थी तो शर्ट और स्क्लत पहन कर जाती थी जिसमे मैं बहुत सेक्सी लगती थी और मेरी क्लास के लकड़े मुझसे देखकर गन्दी गन्दी कम्मेन्ट भी करते थे | जब वो लकड़े मुझ पर गन्दी गन्दी कम्मेन्ट करते थे तो मैं उन लडको की बातो को सुनकर भी बहुत घुस्सा आता था |

दोस्तों एक रात की बात है मैं अपने ड्राइवर के साथ कल्ब में गयी और उस रात मैं बहुत ज्यादा ही पी ली थी और मैं उस रात अपने आप में नही थी | वो मुझे उस रात अपनी बाँहों में उठा कर कार में बैठाया और घर लेकर आया | जब मैं घर आ गयी तो मुझे उस दिन कुछ अजीब सा फील हो रहा था तो मैंने उस रात अपनी टीवी पर एक सेक्सी मूवी लगाई और देखने लगी | दोस्तों मुझे उस रात क्या हुआ था मुझे कुछ भी समझ नही आ रहा था पर उस रात मेरी चूत में खुजली हो रही थी जिसकी वजह से मुझे अजीब सा लग रहा था |

मैं उस रात अपनी टीवी पर सेक्सी मूवी देखने लगी जिससे मेरे अन्दर पूरी तरह से सेक्स की आग लग चुकी थी और उसे शांत करने के लिए मैंने अपने सारे कपडे निकाल दिए और ब्रा और पैंटी में अपने बिस्तर पर लेट गयी | मैं कुछ देर तक अपने बूब्स को हाथ में पकड कर दबाती रही और जब मुझे रहा नही गया तो मैंने अपनी पैंटी को हटा कर अपनी चूत में थूक लगाया और उँगलियों को घुसा कर हिलाने लगी |
दोस्तों जब मैं अपनी चूत में अपनी उँगलियों को घुसा कर जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगी तो मेरे मुंह से सेक्सी आवाजे निकलने लगी | मैं आह आह आह… उई उई मई माँ उई आह्ह… की आवाजे करने लगी |

दोस्तों उस टाइम मुझ पर सेक्स का भुत सवार था और मुझे कुछ नही समझ आ रहा था की मैं क्या करूँ चूत की खुजली को शांत करने के लिए | तब मैं ऐसे ही उठी और नीचे ड्राइवर के कमरे में गयी | मैं जब नीचे उसके कमरे तब पहुची तो उसके रूम का दरवाजा खटखटाया जिससे वो सो रहा था और कुछ देर बाद आया और दरवाजा खोला |

दोस्तों उसने जैसे ही दरवाजा खोला और मुझे इस तरह देखकर डर की वजह से कांपने लगा और बोला मैडम जी ये आप ऐसे क्यूँ घूम रही थी | मैं उसकी कोई बात न सुनती हुई उसके कमरे में घुस गयी और उसके दरवाजे को अन्दर से बंद कर लिया | मैं उसके दरवाजे को बंद करने के बाद उसको पकड कर बोली यार तुम मेरी हेल्प कर दो | वो बोला कैसी हेल्प करूँ तो मैंने उससे कहा की मेरी चूत में घुजली हो रही है इसको शांत कर दो और मैं उसके कपडे निकालने लगी पर वो मानने के लिए तैयार ही नही था और मना कर रहा था |

मैंने तब उसकी कोई बात नही सुनी और उसके सारे कपडे निकाल दिए जिससे वो बिना कपड़ो के आ गया | मैंने तब उसके लंड को हाथ में पकड लिए और ठीक उसी सेक्सी मूवी की हिरोइन की तरह लंड को हाथ में पकड कर मुंह में रख कर चूसने लगी | मैं जब उसके लंड को मुंह में रख कर चूसने लगी तो वो मुझे मना कर रहा था पर कुछ ही देर में मैंने उसके लंड को खड़ा कर दिया जिससे वो भी गर्म हो गया और मुझे पकड कर बेड पर लेटा दिया |

वो मुझे बेड पर लेटाने के बाद मेरी ब्रा को खोल कर मेरे बूब्स को दबाते हुए मुंह में रख लिया | वो मेरे बूब्स को मुंह में रख कर चूसने लगा तो मेरे मुंह से आह आह आह… उई उई मई माँ उई आह्ह इस तरह की आवाजे निकलने लगी | वो मेरे दोनों बूब्स को एक एक करके चूस रहा था वो मेरे बूब्स को ऐसे ही 5 मिनट तक चूसता रहा | फिर मेरी होठो को पर अपनी होठो को रख दिया जिससे मैं उसकी होठो को मुंह में रख कर चूसने लगी |

हम दोनों ऐसे ही एक दुसरे की होठो को कुछ देर तक चूसते रहे | फिर मैंने उसके सर को पकड कर अपनी चूत में घुसा दिया और वो मेरी टांगो को फैला कर मेरी चूत को चाटने लगा | दोस्तों उसकी जीभ के स्पर्स से मेरे अन्दर सेक्स की आग और ज्यादा हो गयी तो मैं अपने बूब्स के निप्पल को घुमा घुमा कर दबाने लगी | मैं अपने बूब्स को दबा रही थी और वो मेरी चूत में अपनी जीभ को घुसा कर चाट रहा था |
दोस्तों वो मेरी चूत को चाटने के साथ मेरी चूत में अपनी उँगलियों को घुसा दिया जिससे मुझे मज़ा आने लगा था |

मैंने तब उसके हाथ को पकड लिया और अपनी चूत में जोर जोर से हिलाने लगी | मैं उसकी उँगलियों को ऐसे ही कुछ देर तक हिलाती रही | मैंने उससे कहा की अब तुम अपने लंड को मेरी चूत में घुसा दो ? वो मेरी बातो को सुनकर मेरी होठो पर एक किस की और लंड के टोपे पर थूक लगाया जिससे उसका लंड मेरी चूत में आसानी से घुस गया |

जब उसका लंड मेरी चूत में घुसा तो कुछ देर के लिए मैं दूसरी दुनियाँ में चली गया लेकिन जब वो मेरी कमर को पकड कर धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा तो मुझे भी मज़ा आने लगा और मैं उसका साथ देती हुई चुदाई के मज़े लेने लगी | वो मेरे दोनों बूब्स को हाथ में पकड कर मेरी चूत में जोर जोर के धक्के मारने लगा | वो मेरी चूत में धक्के मार रहा था और मैं आ आ आ… उई माई माँ उई माँ उई माई…की आवाजे करती हुई चुदाई के मज़ा ले रही थी |

दोस्तों जब वो मेरी चूत में धक्को की स्पीड तेज करके चोदने लगा था तो मैं उस रात जितनी भी पी थी वो सारी कुछ ही देर में उतर गयी | जब वो मेरी चूत में धक्के मार रहा था तो मैं सातवे आसमान पर थी और चुदाई के मज़े ले रही थी | वो मेरी चूत में ऐसे ही 5 मिनट तक धक्के मारता रहा फिर उसने अपने लंड को मेरी चूत से निकाल कर बिस्तर पर लेट गया तो मैंने उसके लंड पर अपनी चूत को रख कर बैठ गयी जिससे उसका लंड मेरी चूत में घुस गया | जब उसका लंड मेरी चूत में घुस गया तो मैं ऊपर नीचे होती हुई चुदाई के मज़े लेने लगी |

वो मेरे बूब्स को मुंह में रख कर नीचे से धक्के मारने लगा जिससे कमरे में धक्को की आवाजे के साथ मेरी सिसकियों की आवाज गूंजने लगी | उसके इस तरह जोरदार धक्के मारने से मेरी चूत से पानी निकाल गया और मैं झड़ गयी | दोस्तों जब मेरी चूत से पानी निकल रहा था तो मुझे बहुत मज़ा आ रहा था और मेरा मन कर रहा था की ये ऐसे ही निकाल रहे | जब मैं झड़ गयी तो वो अपने लंड को मेरे मुंह में घुसा कर चूसने लगा | मैं जब उसके लंड को चूसने लगी तो उसने अपने लंड के पानी को मेरे मुंह में ही निकाल दिया |

दोस्तों उसके पानी का स्वाद कुछ अजीब सा था | जब मैं ये सब करने के बाद अपनी कमरे में आई तो मैं सोचने लगी की मैंने ये क्या किया अपने नौकर के साथ ये सब किया और मुझे ये सब सोच कर अपने आप पर बहुत गुस्सा आ रहा | फिर जब मैं सुबह अपने कॉलेज जा रही थी तो मैंने उससे कहा की कल रात जो हमारे बीच हुआ था उसके बारे में अगर तमने किसी को बताया तो मैं तुम्हे घर से निकाल दूंगी | वो मेरी बात सुनकर बोला जी मैं किसी को नही बताऊंगा |
दोस्तों ये थी मेरी कहानी | धन्यवाद……

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *