देसी लड़की की मस्त चुदाई

हेल्लो दोस्ती कैसे हो आप सभी लोग ? मैं आशा करता हूँ की आप सभी लोग ठीक ही होगे | दोस्तों आप लोग चुदाई तो करते ही होगे अगर चुदाई करते हो तो चुदाई का पूरा मज़ा तो ले ही रहे होगे | तो दोस्तों मैं आप लोगो के बारे मैं बता देता हूँ | मेरा नाम संजीव है | मेरी उम्र 26 साल है | मेरी हाईट 6 फुट 10 इंच है | मेरे लंड का साइज़ 8 इंच लम्बा और मोटा 3 इंच है |

मैं रहने वाला भोपाल का हूँ | मैं दिखने में ज्यादा गोरा तो नही हूँ पर ठीक हूँ और मेरी बॉडी ठीक ठाक है जिससे मैं स्मार्ट लगता हूँ | मैं अपने मम्मी और पापा की इकलोती संतान हूँ और मेरे मम्मी पापा मुझे बहुत प्यार करते हैं | मैं भी अपने मम्मी पापा को प्यार करता हूँ | जब से मेरी जॉब लगी है तब से मैं अपने पापा को कम नही करने देता हूँ | मैं सेक्सी कहानी पढने के अदि नही हूँ पर कभी कभी पढ़ लेता हूँ और जब मैं पढता हूँ तो सोचता हूँ की कैसे यो लोग दुसरे की बीबी ये किसी लड़की को उसके घर मैं चोद देते है | जब मेरे साथ ये हुवा तो मैं भी जान गया की ये सब हो जाता है |

तो दोस्तों मैं भी आज अपनी एक कहानी लेकर आया हूँ | ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | ये मेरी पहली कहानी है तो आप लोगो को कहानी में गलती भी नज़र आ सकती है अगर आप लोगो को कहनी में गलती नज़र आती है तो मुझे माफ़ करना | मैं उम्मीद करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पंसद | मैं आप लोगो का ज्यादा समय न लेते हुए सीधे अपनी कहानी पर आता हूँ |

ये कहानी अभी कुछ दी पहले की है जब मैं जॉब करता था | मैं जॉब करने के कुछ दिन के बाद मुझे कुछ काम से एक गाँव में जाना पड़ा था और मैं जब उस गाँव में गया तो मेरा काम तो नही हुवा इसलिए मुझे उसी गाँव में कुछ दिन के लिए रुकना पड़ा और मैं उस गाँव में रुक गया | दुसरे दिन उस गाँव में मुझे एक लड़की दिखी जो दिखने में बहुत गोरी थी और उसका फिगर भी सेक्सी था | उसके बड़े बड़े बूब्स और उसकी बड़ी चौड़ी गांड थी जिसको देख कर किसी की भी नियत ख़राब हो जाये | मैं उसको देख रहा था तो वो लड़की मुझे देख कर हँसने लगी और हँसती हुई चली गयी | फिर वो जब कुछ देर बाद वापस आई तो मुझसे उसने पूछा की आप कहा से आये हो तो मैंने उसे बताया भोपाल और उसका नाम पूछा तो उसने अपना नाम दीपा बताया |

फिर वो चली गयी अब वो जब भी वहां से निकलती तो मुझे देख कर हँसती हुई चली जाती थी | इसी तरह से 1 दिन निकल गया | वो जब मुझे देख कर हँसती तो मुझे आच्छा लगता था | फिर वो सुबह  मेरे पास आकर बोली आप से कुछ बात करनी है तुम रात को मुझे स्कूल में मिलना और ये कह कर चली गयी | फिर जब रात हो गयी तो मैं उससे मिलने वहां गया और वो भी आई तो मैं उससे बात करने लगा | वो बात करती हुई मुझे बोली आप ने कभी सेक्स किया है तो मैंने कहा नही |

तब वो मेरे तरफ बढ़ कर वो मेरे और सेक्सी नज़रो से देखने लगी | फिर वो मेरे लंड को पेंट के ऊपर से मसलने लगी | तो मैं उसकी होठो पर अपने होठ रख कर उसके होठो को चूसने लगा | वो भी मेरे साथ देती हुई मेरी होठो को चूसने लगी | मैं उसकी होठो को चूसने के साथ में उसके बूब्स को कपडे के ऊपर से दबाने लगा | वो मेरी होठो को चूसने के साथ में मेरे लंड को पेंटी के ऊपर से सहला रही थी | मैं कुछ देर तक उसकी होठो को चूसता रहा |

फिर मैं उसके बूब्स को दबाते हुए उसके कपड़े निकलने लगा और वो कुछ ही देर में मेरे सामने ब्रा और पेंटी में आ गयी | तो मैं उसके बूब्स को ब्रा के ऊपर से दबाने लगा | तो उसके मुंह से हलकी हलकी आवाज में सिसिकियाँ निकल गयी | मैं उसके बूब्स को दबाते हुए उसकी ब्रा भी खोल दी और उसके एक दूध को मुंह में रख कर चूसने लगा | मैं उसके एक दूध को मुंह में रख कर चूस रहा था और दुसरे को अपने हाथ में पकड कर दबाने लगा | मैं उसके एक दुह को मुंह में रख कर चूस रहा था और दुसरे को हाथ में पकड कर दबा रहा था | मैं उसके बूब्स को कुछ देर तक ऐसे ही मुंह में रख कर चूसता रहा |

मैं एक एक करते चूसने के बाद मैंने उसकी पेंटी को निकाल दिया और उसकी टांगो को थोडा सा फेला कर उसकी चूत में अपने मुंह को घुसा कर उसकी चूत को चाटने लगा | तो उसके मुंह से उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उआआ अह्ह्ह अहह अफ्फ्फ़ फ्फ ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अफ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आया अह्ह्ह अह्ह्ह फ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ करने लगी | मैं उसकी चूत को अपनी जीभ से चाट रहा था | वो अपने बूब्स को मसलती हुई साथ में धीमी धीमी आवाज में उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उआआ अह्ह्ह अहह अफ्फ्फ़ फ्फ ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अफ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आया अह्ह्ह अह्ह्ह फ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह कर रही थी |

मैं उसकी चूत में अपनी जीभ को घुसा कर अन्दर बाहर करने लगा और साथ ने उसकी चूत में अपनी ऊँगली भी घुसा दी | तो वो उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उआआ अह्ह्ह अहह अफ्फ्फ़ फ्फ ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अफ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आया अह्ह्ह अह्ह्ह फ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह उफ्फ्फ करती हुई अपने बूब्स को मसल रही थी | मैं उसकी चूत में कुछ देर तक ऐसे ही ऊँगली को अन्दर बाहर करता रहा |

फिर मैंने अपने कपडे निकाल कर उसके हाथ में लंड को पकड़ा दिया और वो मेरे लंड को हिलाती हुई मुंह में रख कर चूसने लगी | तो मेरे मुंह से धीमी धीमी आवाज में सिसिकियाँ निकल गयी | वो मेरे लंड को मुंह में अन्दर बाहर करती हुई चूसने लगी और मैं उसके सर को पकड कर अपने लंड को चुसाने लगा | वो मेरे लंड को जोर जोर से अन्दर बाहर करती हुई चूसने लगी | तो मैं उसके सर को पकड कर उसके मुंह में धीरे धीरे धक्के मारने लगा | मैं उसके मुंह में कुछ देर तक ऐसे ही लंड को चूसता रहा |

फिर मैंने उसकी टांगो को फेला कर उसकी चूत के मुंह पर अपने लंड को रख कर उसकी चूत में घुसा कर चोदने लगा | तो उसके मुंह से उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उआआ अह्ह्ह अहह अफ्फ्फ़ फ्फ ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अफ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आया अह्ह्ह अह्ह्ह फ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह की सिसिकियाँ निकल गयी | मैं उसकी चूत में धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा | तो वो मस्त होकर चुदने लगी साथ में उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उआआ अह्ह्ह अहह अफ्फ्फ़ फ्फ ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अफ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आया अह्ह्ह अह्ह्ह फ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अहह करने लगी | मैं उसकी चूत में जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा |

वो अपनी चूत को हिला हिला कर चुदने लगी | मैं उसकी चूत में जोरदार धक्के मारने लगा | तो वो उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उआआ अह्ह्ह अहह अफ्फ्फ़ फ्फ ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अफ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आया अह्ह्ह अह्ह्ह फ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ करने लगी | मैं उसकी चूत में ऐसे ही कुछ देर तक धक्के मारता रहा फिर मैंने उसकी चूत से अपने लंड को निकाल कर उसके मुंह में डाल कर चुसाने लगा |

मैं अपने लंड को उसके मुंह में अन्दर बाहर करते हुए चुसाने लगा | कुछ देर तक चुसाने के बाद मैंने उसे वहीँ पर घोड़ी बना कर उसकी चूत में पीछे से लंड को डाल कर उसको चोदने लगा | तो वो उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उआआ अह्ह्ह अहह अफ्फ्फ़ फ्फ ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अफ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आया अह्ह्ह अह्ह्ह फ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह  उफ्फ्फु उह्ह्ह्हू उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह करती हुई चुदने लगी |

मैं उसकी चूत में जोर जोर से अन्दर बाहर करते हुए उसको चोदने लगा | तो वो उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उआआ अह्ह्ह अहह अफ्फ्फ़ फ्फ ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अफ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आया अह्ह्ह अह्ह्ह फ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह उफ़ करती हुई चुदने लगी | उसकी चूत में जोरदार धक्के मारते हुए चोदने लगा |

तो वो उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उआआ अह्ह्ह अहह अफ्फ्फ़ फ्फ ह्ह्ह अह्ह्ह्ह अफ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ आया अह्ह्ह अह्ह्ह फ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ करती हुई अपनी चूत को आगे पीछे करती हुई चुदने लगी | मैं उसको कुछ देर तक ऐसे ही चोदता रहा और 40 मिनट की मस्त चुदाई करने के बाद मेरे लंड ने सारा माल उसकी गांड पर निकाल दिया | इस तरह से मैंने गाँव की लड़की की मस्त चुदाई की |

मैं उम्मीद करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी और पढने में मज़ा भी आया होगा | कहानी पढने के लिए धन्यवाद 

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *