baju wali ko chhodne me maja aaya

loading...

जब हम अपने घर में नये-नये शिफ्ट हुए थे! हमारे घर केबगल में एक पति-पत्नि रहते थे! उनका एक 2 साल का एक लड़का भी था! हम लोगो के शिफ्ट हॊने के बाद, उनसे मेलजोल बढ़ा! हमने उन्हें भैया भाभी कहना शुरू किया क्यूंकि, 3 साल पहले ही उनकी शादी हुई थी! भैया 32और पड़ोसन भाभी करीब 24-25 साल की रही होगी! भाई साहेब सुबह अपने काम पर चले जाते औरभाभी घर पर ही अपने लड़के की परवरिश करती! भाभी देखने में अति सुन्दर थी! उनका गोरा गोरा रंग, गोरा फेस, गोरा सा बदन, पतली चिकनी कमर, उठे हुए स्तन, पीछे निकले हुए कुल्हे (hips), मदमस्त करने वाली बड़ी-बड़ी आँखे किसी कोभी उनका दीवाना बना सकती थी! मैं उस समय 25 साल का था!अब पड़ोसन भाभी का हमारे घर आना जाना शुरू हुआ,

मैं उनके लड़के को अच्छे से ट्रीट करता था, जो उन्हें भी अच्छा लगता था! और हम लोगो का घर में आना जाना, एक दुसरे के घर खाना एक्सचेंज करना एक नार्मल सी बात हो गयी थी! हम लोगो की, पड़ोसन भाभी से एक अच्छी tuning, बैठ गयी थी! कभी कभी हम दोनों एक दुसरे को नॉन वेज जोक्स (गन्दे चुटकले) भी सुना देते थे!एक बार मैं घर पर अकेला था, और पड़ोसन भाभी काली साड़ी में अपने बेटे के साथ घर पर आ गयी! उस दिन भाभी गज़ब की लग रही थी! मैं अपने कमरे में था तो, वो मेरे कमरे में आ गयी और अपने बेटे को (जो सो चुका था) मेरे बिस्तर पर लिटादिया! जैसे ही भाभी नीचे झुकी, उनकी साडी का पल्लू नीचे गिर गया और भाभी केस्तन पूरी तरह से आज मैं देख सकता था! देखते ही मैंने एक कमेंट कसा और कहा! लगता है ये बहुत juicy हैं?

loading...

भाभी शर्मा गयी और धीरे से बोली तुम भी taste कर लो! मैंने वो अल्फाज़ सुन लिए थे और बोला, तो taste करवाओ! भाभी बोली उसके लिए करीब आना पड़ता है!इतना सुनते ही मै, भाभी के करीब जाकर खड़ा हो गया और अब हमदोनों एक दुसरे कोकिस करने लगे! भाभी को शायद अच्छा अनुभव था, जो वो अब मेरे साथ कर रही थी!.हम दोनों एक दुसरे को अपनी बाहों में लिए हुए किस करते हुए एक दुसरे के बदन की गर्मी का एहसास कर रहे थे! मैं भाभी के स्तनों को दबा रहा था लेकिनभाभी के जिस्म की खुशबु मदहोश करने वाली थी! फिर मैंने धीरे-धीरे भाभी की साडी उठानी शुरू की! भाभी की वो गोरी चिकनी टाँगे देखकर मैंने उन्हें चूमना शुरू कर दिया! भाभी का वो नमकीन बदन उनकी सेक्सी टाँगे किसी को भी पागल कर सकती थी! भाभी को भी मज़ा आने लगा था!

उन्होंने मेरे पजामे का नाडाखोल दिया, और अब वो अपने आप पर भी काबू नहीं कर पा रही थी!मुझे सहलाने के बाद उन्होंने मुझे लेटने को कहा और मेरे लेटते ही मेरे उपरसवार हो गयी! वो मेरे बदन पर जगह-जगह काटने लगी! मैं उनके स्तनों को धीरे-धीरे दबा रहा था! उनकी वो तड़फ देखते ही बनती थी, जो मुझे और कामुक बनारही थी! धीरे-धीरे भाभी के झटके और तेज हो रहे थे! मैं भी उनकी उस रफ़्तार का भरपूर आनंद ले रहा था!भाभी की काली साडी उठी हुई थी, और उनकी गोरी चिकनी जांघो पर मेरे हाथ थे! वो मेरे उपर झुकी हुई थी और उनका एकस्तन मेरे चेहरे पर था! इस वक़्त भाभी के अध खुले हुए ब्लाउज और सफ़ेद ब्रा से उभरे हुए स्तन उनको और आकृषित बना रहे थे! भाभी को इस पोजीशन में मैंनेपहली बार देखा था,

loading...

और अब मैं भाभी के बदन को स्पर्श कर रहा था!मैं भाभी और अपनी उस तड़फ को समझ सकता था! फिर उस दिन हम दोनों ने कपड़ो मेंही (पूरे कपडे नहीं उतारे) सम्भोग किया! हम दोनों ने आधे घंटे में करीब 2 बार सम्भोग किया! भाभी और मेरे बीच अब दूरियां ख़त्म हो चुकी थी! लेकिन हम दोनों किसी को ये बातें ज़ाहिर नहीं हॊने देते थे!उसके बाद हम दोनों को और भी बहुत मौके मिले, और हम दोनों बार-बार जुड़े! हम दोनों एक दुसरे के टच में करीब 2 साल तक रहे! वो लोग, किराये के मकान मेंथे और 2 साल बाद जब उनको अपना घर मिल गया तो वो यहाँ से चले गये! अब कभी कभी फ़ोन पर भाभी से बात हो जाती है! लेकिन मिलने का अवसर नहीं मिलता!

loading...

loading...