गोरी को खेत में नंगा करके चोदा

loading...

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम राज है | मैं सभी सेक्सी कहानी पढने वालो की सेवा में एक बार फिर से हाज़िर हूँ | दोस्तों मैं आज जो कहानी आप लोगो के सामने प्रस्तुत करने जा रहा हूँ ये मेरी सच्ची कहानी है और इस चुदाई में मुझे बहुत मज़ा आया था इसलिए मैं आप लोगो के सामने प्रस्तुत करने जा रहा हूँ | दोस्तों मुझे अपनी इस कहानी पर इतना भरोषा है की ये कहानी आप लोगो के लंड का पानी तो निकाल ही देगी | मैं कहानी शुरू करने से पहले अपने बारे में बता देता हूँ | मेरी उम्र 24 साल है और मेरी हाईट 6 फुट 4 इंच है | मैं दिखने में बहुत गोरा हूँ और स्मार्ट भी | दोस्तों मैं चुदाई का बहुत शौक़ीन हूँ और मैं कभी न कभी किसी लड़की की चुदाई कर ही देता हूँ | मैं रहने वाला एक छोटे से गाँव का हूँ | दोस्तों मैं सीधे कहानी शुरू करता हूँ और मैं आप सभी लोगो से आशा करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आयेगी अगर आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आती है तो मुझे जरुर बताएं |

ये कहानी अभी कुछ दिन पहले की है | मेरे गांव में मेरे पापा को लोग बहुत मानते हैं क्यूंकि वो सब लोगो का ख्याल रखते हैं इसी वजह से मेरे पापा लोगो के दिल में रहते हैं | मेरे गांव का कोई भी आदमी कुछ भी काम करने से पहले मेरे पापा से पूछता हैं | दोस्तों में भी मस्त लड़का हूँ और मैं गांव में बाहर से पढाई करके ही आया था | मैं उस दिन गांव में घूम ही रहा था की मुझे एक लड़की दिखी | वो दिखने में बहुत सुन्दर थी और उसका फिगर बहुत ही सेक्सी था | जब मैंने उसको देखा तो देखता ही रह गया | वो देखने में बहुत हॉट लड़की थी | मैं उसे देखने लगा जब मैं उसे देख रहा था तो उसने मुझे देखते हुए देख लिया और वो अन्दर चली गयी | दोस्तों मैं आप लोगो को उसके फिगर के बारे में बता देता हूँ | उसके कभी बड़े बूब्स थे जो ऊपर की और उभरे हुए थे |

loading...

उसकी गांड को देखकर मेरे मन में चुदाई की आशा जाग गयी था | उसका नाम गोरी है और वो मेरे गांव में ही रहती है जब वो मुझे देख कर अन्दर जाने लगी तो उसकी बड़ी चौड़ी गांड मटकती हुई चल रही थी | फिर मैं भी सीधा अपने घर चला आया और उसकी चुदाई करने के बारे में सोचने लगा | मैं जब रात को अपने कमरे में लेटा था तो उसके वो उभरे हुए बूब्स मेरी आँखों के ऊपर से हट ही नही रहे थे | मैं उस रात उसके बारे में सोचते हुए ही सो गया | उसके दुसरे दिन की बात है जब मैं उसको पटाने के लिए उसके घर के चक्कर लगाने लगा | दोस्तों मुझे ये नही पता था की वो मुझसे इतनी जल्दी पाट जाएगी | मैं उसके घर के चक्कर लगाने लगा और वो उसके 5 दिन बात मुझसे बोली तुम मेरे घर के चक्कर न लगाओ मैं तुमसे रात में बात करती हूँ |

मैं उस दिन रात के आने का इंतजार करने लगा | फिर रात हुई और वो मुझे मिलने आई तो मैंने उससे कहा की यार तुम जैसी लड़की मुझे आज तक नही मिली | मैं उसकी तारीफ करने लगा और वो मेरी बतो में आ गयी | मैं उससे अपने बातो के जाल में फंसा लिया था | तब वो मुझसे बोली की हाँ मैं भी तुमको पसंद करती हूँ पर मेरी अगले महीने में शादी है | वो बात मुझे सुनकर जोर का झटका लगा और सोचा की अगर में इसे चोद नही पाया तो मुझे कभी अच्छा नही लगेगा | तब मैंने मौके के फायदा उठाते हुए उससे कहा तो क्या हुआ तब तक हम दोनों एक दुसरे से मिलते रहते हैं | वो मेरे ये बात मान गयी | फिर वो मुझसे रोज ही रात तो मिलने आ जाती और मैं उसे अपनी बाँहों में भर लेता | हम दोनों एक दुसरे की बाँहों में लिपट कर बाते करते रहते |

loading...

उसके 4 – 5 बाद की बात है जब वो मुझे मिलने आई तो मैंने उसे अपनी बाँहों में भर लिया और उसकी होठो पर अपनी होठो को रख दिया और चूसने लगा | तब गोरी ने मुझे मना किया और दूर कर दिया कहा ये मत करो मेरी शादी होने वाली है तुम दादा के लकड़े हो मैं इसलिए मन गयी थी तुमसे मिलने के लिए | तब मैंने उससे कहा की कुछ नही करूँगा | मैं तुम्हे किस भी नही कर सकता और उसे अपनी बाँहों में भर लिया और उसे चूमने लगा | फिर उसकी होठो को चूसने लगा और वो मेरी होठो को चूसने लगी | मैं उसके होठो को कुछ देर तक चूसने के साथ में उसके कपड़ो के अंदर हाथ को डाल कर उसके बूब्स को दबाने लगा | जब मैं उसके बूब्स को हाथ में पकड़ा तो मुझे उसके बूब्स बहुत चिकने और गोल लगे | मैं उसके बड़े और चिकने बूब्स को जोर जोर से दबाने लगा | मैं उसके बड़े चिकने बूब्स को दबाने लगा जिससे वो जोर जोर से सांसे लेने लगी | मैं उसकी वो सांसे सुनकर उसके बूब्स के निप्पल को पकड कर मसलने लगा | मैं उसके बूब्स को अपने दोनों हाथो से पकड लिया और जोर जोर से दबाने लगा | मैं उसके बूब्स को जोर जोर से मसल रहा था जिससे वो जोर जोर की सांसे ले रही थी |

फिर वो बोली मुझे जाने दो दोस्तों मेरा लंड खड़ा था और मुझे उसको जाने देने का कोई इरादा नही था | वो उस दिन चली गयी अब वो जब रोज आती तो मैं उसके साथ ये करता जिससे वो गर्म होती जाती थी और सिसकियाँ लेने लगती थी | मैं उसके साथ ऐसा ही रोज करता था और एक सही मौका देख कर मैं यही करने लगा | जब वो मुझे उस रात मिलने आई तो मैं उसकी होठो को चूसने लगा और वो मेरा साथ देती हुई मेरी होठो को चूसने लगी | वो मेरी होठो को चूस रही थी और मैं उसकी होठो को चूस रहा था | मैं उसकी रसीली होठो को चूसने के साथ उसको उसके कपडे के ऊपर से बूब्स दबाने लगा |

loading...

मैं एक हाथ उसके बूब्स पर था और दूसरा हाथ में उसकी चूत पर रख दिया | दोस्तों मैं उसकी रसीली होठो को चूसने के साथ उसके बूब्स दबा रहा था और उसकी गर्म चूत को सहलाने के साथ उसकी चूत में ऊँगली घुसा दी तो उसकी चूत की गर्मी पाकर मेरा लंड पैन्ट को ऊपर चढाने लग | मैंने उसकी चूत में जैसे ही ऊँगली घुसा दी उसके मुंह से जोर की अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह निकल गयी | मैं उसकी वो अह सुनकर चूत में ऊँगली को स्पीड तेज करदी अब वो गर्म हो गयी थी और अपने आप में नही थी जिससे वो मुझे ये करने के लिए मना भी नही कर रही थी | मैं उस मौके का फायदा उठाते हुए उसके कपडे निकाल दिए जिससे वो मेरे सामने ब्रा और पैंटी में आ गयी मैं उसको ऐसे देख कर बेकाबू हो गया और उसके ब्रा को खोल दिया | उसके ब्रा को खोल कर उसकी बूब्स को पकड कर अपने मुंह में रख लिया | जब मैं उसके बूब्स को मुंह में रख कर चूसने लगा तो वो जोर जोर से अन्हे भरने लगी |

मैं उएकी अन्हे सुनकर उसकी बूब्स को कस के पकड लिया और पीने लगा | मैं उसके बूब्स को ऐसे ही कुछ देर तक एक एक करके चूसने के बाद मैंने उसकी चूत में ऊँगली घुसा दिया | मैं उसकी चूत में ऊँगली को घुसा कर उसकी चूत में अपने मुंह को घुसा कर चाटने लगा | मैं जब उसकी चूत में अपनी जीभ को घुसा कर चाटने लगा तो वो आ आ आ आ…. ओह्ह ओह्ह ओह्ह… ई ई ई ई…. सी सी सी सी… अह अह अह अह…. की सिसकियाँ लेने लगी | मैं उसकी सिसकियाँ सुनते हुए उसकी चूत में ऊँगली को जोर जोर से अन्दर बहर कर रहा था | मैं उसकी चूत के दाने को अपनी होठो को पकड कर खीच खीच कर चूस रहा था | वो जोर जोर से अन्हे भरती हुई अपनी चूत को चूसा रही थी | फिर मैंने अपने कपडे निकाल दिए और अपने लंड को हाथ से आगे पीछे करते हुए उसके मुंह में घुसा दिया |

loading...

वो सेक्स के नशे में मेरे लंड को मुंह में रख कर चूसने लगी | वो मेरे लंड को मुंह में रख कर जोर जोर से अन्दर बाहर करती हुई चूस रही थी और मैं उसके सर को पकड कर चूसा रहा था | मैं कुछ देर तक लंड को चूसाता रहा और फिर उसके मुंह से निकाल कर चूत के मुंह पर रख दिया | मैं अपने लंड को उसकी चूत के मुंह में रख कर धीरे से थोडा घुसा कर अन्दर बाहर करने लगा | मैं थोडा घुसा कर अन्दर बाहर करते हुए एक जोरदार धक्का मारा और मेरा लंड आधा अन्दर घुस गया | मेरा लंड जैसे ही चूत को फाड़ते हुए अन्दर गया तो उसने मुंह से दर्द भरी आवाज निकल गयी और आँखों में पानी आ गया |

मैं उसको उसी के खेत में पेड को पकड़ा कर पीछे से धक्के मारने लगा | मैं उसकी चूत में जितनी जोर से धक्के मारता वो उतनी जोर से आगे बढ़ जाती | मैं उसकी चूत में ऐसे ही कुछ देर तक धक्के मारता रहा जिससे वो भी मज़ा लेने लगी | अब वो चुदाई का मज़ा लेती हुई मेरा साथ देने लगी और अपनी चूत को आगे पीछे करती हुई चुदने लगी | मैं उसकी चूत में पीछे से जोरदार धक्के मार रहा था और वो अपनी चूत को आगे पीछे करती हुई चुद रही थी | मैं उसकी ऐसे ही 10 मिनट तक चोदने के बाद झड़ गया |
फिर मैंने अपने कपडे पहन लिए और उसने अपने कपडे पहन लिया | मैंने उसको चेहरे को अपने दोनों हाथो में पकड लिया और उसकी होठो को एक प्यारी सी किस की और जाने को कह दिया | उस रात की चुदाई के बाद 2 बार और चोदा था उसी जगह फिर उसकी शादी हो गयी थी और तब से मेरी बात भी उससे नही हुई है |
धन्यवाद………..

loading...
loading...

Leave a Reply

loading...